Saturday, May 12, 2018

एक गीत में दो बहरों का समावेश

#तकती
💐💐💐
दोस्तो आज फिर एक दो बहर का  मनभावन गीत आपकी अदालत में पेश है ।
बहर के लिहाज से बड़ा ही पेचीदा लेकिन मेरा  बहुत  ही मनपसंद गीत ।
 पेचीदा इस लिए कि इस गीत में भी दो बहरों का समावेश है ।
🐼🐼🐼🐼🐼🐼🐼🐼
गीत के बोल : और उसकी तकती
^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^

फ़िल्म शर्त का ये गीत,संगीतकार: हेमंत कुमार गीतकार :एस.एच.बिहारी और गायक : हेमंत कुमार, गीता दत्त
*****************
मुखड़ा
🌴🌴🌴
न ये चाँद होगा न तारे रहेंगे
मगर हम हमेशा तुम्हारे रहेंगे

🌻122-122-122-122
बहर: मुतकारीब मुसम्मन सालिम
👁👁👁👁👁👁👁👁👁

अंतरा देखिये
🌺🌺🌺🌺

बिछड़कर चले जाएँ तुमसे कहीं
तो ये ना समझना मुहब्बत नहीं ।

🌻122-122-122-12
बहर :मुतकारीब मुसम्मन महज़ूफ़
👁👁👁👁👁👁👁👁👁

अब देखिए ऊपर गीत का अंतरा अगर हम नीचे वाले गीत के मुखड़े की तर्ज़ पर गायें तो :

🌹सुहाना सफर उर ये मौसम हँसी,
हमें डर है हम खो न जाएँ कहीं ।

🌻122-122-122-12
बहर :मुतकारीब मुसम्मन महज़ूफ़
🏈🏈🏈🏈🏈🏈🏈🏈🏈


💿💿💿💿💿💿💿💿💿💿